Hindi Shayari on Animal cruelty - Elephant died in Kerala 2020

Hindi Shayari on Animal cruelty - Elephant died in Kerala 2020


हिंदुस्तान वह देश है जहाँ जानवरों को पूजा जाता है, पर यहाँ ऐसे भी लोग है की जानवरों के साथ ऐसा सुलूक करते है की खुद शैतान को शर्म आजाये। आज हम बात कर रहे है एक ऐसे घटना की जो कभी हम सपने में भी सोच नहीं सकते और इन दरिंदों ने कर दिखाया। 

हम बात कर रहे है केरेला की जहाँ एक गर्भवती हाथी को बेरहमी से अनानास में पठाके दाल के खिलाया गया।  उसके चलते उस बेचारे हाथी की मौत हो गयी। हाथी गर्भवती थी उसके साथ उसके नन्हे बच्चे का क्या दोष था की इन दरिंदों ने ऐसा पापी काम किया, इसकी कितनी भी निंदा की जाए वो काम है। 

इस घटना पे कई तरीके से लोगों ने अपनी आपत्ति ज़ाहिर की। हम यह पोस्ट लिख रहे है उसमे हमारे अज़ीज़ दोस्त रुपेश शर्मा उर्फ़ देसी लेखक की शायरी और कविता के साथ। 


elephant-died-in-kerala-2020

Hindi Shayari on Animal cruelty a tribute to Pregnant Elephant killed in Kerala  



खुद को फरिश्ता कहता है पर हैवान बन कर रह गया,
आज का इंसान क्या इंसान रह गया?

कहीं झगडे कहीं लड़ाई
कहीं पे पाला राडा है। 

शैतान हसे है अंदर इनके 
भगवान् अंश न थोड़ा है। 

मारते थे पहले एक दूसरे को 
अपनों को न छोड़ा है। 

मन इनका न भरा जो 
जानवरों के तरफ मुँह मोड़ा है। 

मार दिया उसे जिसका 
बोल बेज़ुबान रह गया है। 

आज का इंसान क्या इंसान रह गया है।  

खुदा की सबसे बेहतर बनावट है हम,
बाकी सब में है कमिया पर बिन मिलावट है हम। 

बस इसी बात का हमको गुमान रह गया है, 
आज का इंसान क्या इंसान रह गया है?  

पहले काटे जंगल फिर पेड़ों को है जलाया, 
जिनका वह था घर उनको मार के भगाया।  

कभी किये अत्याचार तो कभी पिंजरों में है ठहराया,
देख कर यह दमन निति  भगवन के आँसू आया।  

आने को अब बस तूफ़ान रह गया है, 
आज का इंसान क्या इंसान रह गया है?

धरती के किरायेदार है पर मालिक बन रहा है, 
कारनामो से अपने हम इंसानियत पर कालिख भर रहा है।  

खुदा की सबसे खूबसूरत बनावट होकर भी, 
यह अपने आप पर कलंक हो गया है।  

इंसानियत जानवरों में और मुर्दा इंसान हो गया है,
क्या आज का इंसान क्या इंसान रह गया है?  

तुमपर किया भरोसा यह उसका कुसूर ही था 
माना पर क्या इतना बड़ा सबक ज़रूरी था ?

खिला के फल में बारूद जो ली है दो जान तुमने,
क्या दिल में तुम्हारे इसका कुछ मान रह गया?

सच सच बताना ए दोस्त... 
क्या आज का इंसान क्या इंसान रह गया है?

दोस्तों बहोत दुःख होता है जब इंसान ऐसे काम करता है, शर्म आती है अपने इंसान होने पर।  यह कुछ बोल थे हमारे तरफ से हमारे दुःख व्यक्त करने के लिए, जो हुआ उसे हम ठीक तो नहीं कर सकते पर आशा करते है के आगे ऐसा न हो। जिसने उस बेचारी गर्भवती हाथी को बेरहमी से मारा उनको कड़ी से कड़ी सजा होनी चाहिए, हमारी शायरी कैसी थी आप कमेंट करके बताइये।  

We are sorry for being humans, We want strong case and punishment for those who killed the pregnant elephant in Kerala. We want strong laws in our country against animal cruelty. 

Also read:


Motivational Quotes 
Hindi Motivational Quotes



Follow Wishes and Quotes on social media to get daily updates on motivation and festival wishes

Youtube

Share this post if you like it from the share buttons below👇


Post a Comment

0 Comments